in

Government will implement CAA सीएए लागू करेगी सरकार

सिलिगुड़ी। संसद से पास होकर कानून बनने के बाद पिछले करीब ढाई साल से ठंडे बस्ते में पड़े नागरिकता संशोधन कानून यानी सीएए को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने फिर से चर्चा में ला दिया है। उन्होंने कहा है कि केंद्र सरकार इस कानून को जल्दी लागू करेगी। गृह मंत्री ने गुरुवार को पश्चिम बंगाल की एक सभा में राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को निशाना बनाया और कहा कि वे इस कानून को लेकर अफवाह फैला रही हैं। शाह ने कहा कि कोरोना की वजह से से सीएए लागू नहीं हो सका था लेकिन कोरोना खत्म होते ही सरकार इसे लागू करेगी और घुसपैठियों को बंगाल से बाहर निकालेगी।

गौरतलब है कि संशोधित नागरिकता कानून 2019 में बना था लेकिन सरकार अभी तक इसके नियम तय नहीं कर पाई है, जिसकी वजह से इसे लागू नहीं किया गया है। इस कानून के जरिए सरकार ने पड़ोसी देशों से प्रताड़ित होकर आने वाले गैर मुस्लिमों को भारत की नागरिकता देगी। इस कानून का देश भर में बड़ा विरोध हुआ था। बहरहाल, अमित शाह ने सिलीगुड़ी के रेलवे स्पोर्ट्स मैदान में गुरुवार को एक रैली की और इस दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जम कर निशाना साधा।

अमित शाह ने कहा- हमने सोचा था कि ममता बनर्जी तीसरी बार जीती हैं तो शायद सुधर जाएंगी, लेकिन कुछ नहीं बदला। ममता दीदी को आपने तीन बार चुना, उसके बाद भी वे नहीं सुधर रही हैं। उन्होंने कहा- जब तक ममता दीदी बंगाल की जनता पर अत्याचार, भ्रष्टाचार, कट मनी और सिंडिकेट का राज खत्म नहीं करेंगी, तब तक भाजपा अपनी लड़ाई चालू रखेगी। गृह मंत्री ने कहा कि चुनाव के बाद बंगाल में जो हिंसा हुई उसके बाद ह्यूमन राइट कमीशन ने भी माना कि बंगाल में कानून का राज नहीं है, बल्कि यहां जो सत्ता में है, उनकी इच्छा का राज है।

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पश्चिम बंगाल सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा- टीएमसी अफवाह फैलाती है कि सीएए जमीन पर लागू नहीं होगा। कोरोना की लहर खत्म होने के बाद सीएए को लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा- कान खोलकर के टीएमसी वाले सुन लें कि सीएए वास्तविकता है, था और रहेगा। बंगाल से घुसपैठ खत्म करेंगे।

ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए अमित शाह ने कहा- पीएम मोदी ने पिछले दो साल से लोगों को मुफ्त अनाज दिया, लेकिन उसमें ममता दीदी अपनी फोटो लगा रही हैं। उन्होंने कहा- गोरखपुर से सिलीगुड़ी तक 31 हजार करोड़ के खर्च से 545 किलोमीटर की सड़क का काम शुरू हो गया है। गोरखा आबादी को ध्यान में रखते हुए शाह ने कहा- कोई एक पार्टी है जो गोरखा भाइयों पर ध्यान देती है तो वह है भाजपा। हमने कहा है कि सभी संवैधानिक मर्यादाओं में रहते हुए गोरखा भाइयों की समस्याओं का हल निकालेंगे।

India

What do you think?

Written by rannlabadmin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GIPHY App Key not set. Please check settings

Poor journalism in India भारत की घटिया पत्रकारिता?

Ye Megh Hamare Prem Ke Sakshi Honge)